राजस्थान का एकीकरण Rajasthan ka Ekikaran

राजस्थान का एकीकरण Rajasthan ka Ekikaran राजस्थान का एकीकरण, राजस्थान का इतिहास, राजस्थान का निर्माण, राजस्थान की प्रमुख रियासतें, Rajasthan ka Ekikaran, एकीकरण के सात चरण। इन सातों चरणों का विवरण इस प्रकार है- प्रथम चरण : राजस्थान का एकीकरण Rajasthan ka Ekikaran मत्स्य संघ 18 मार्च, 1948 ई. मत्स्य संघ – अलवर, भरतपुर, धौलपुर, … Read more

रीतिकाल के प्रमुख ग्रंथ

रीतिकाल के प्रमुख ग्रंथ रीतिकाल के प्रमुख ग्रंथ, रीतिकाल के प्रमुख कवि, रीतिकाल की प्रमुख धाराओं के नाम, काव्यविवेक किसकी रचना है?, रीतिकाल का वर्गीकरण आदि रीति-काल में रचे गये विभिन्न रीति ग्रंथों की सूची काव्यविवेक चिंतामणि की रचना है। रीतिकाल: रस, श्रृंगार एवं नायिका भेद ग्रंथ •हिततरंगिणी(1541):- कृपाराम •साहित्यलहरी:- सूरदास •रसमंजरी(1550):- नंददास •रसिकप्रिया(1591):- केशवदास … Read more

राघवयादवीयम् ग्रन्थ

राघवयादवीयम् ग्रन्थ राघवयादवीयम् ग्रन्थ जिसे अनुलोम-विलोम काव्य भी कहा जाता है। 17वीं शताब्दी में कवि वेंकटाध्वरि की रचना एवं अति दुर्लभ ग्रन्थ। राघवयादवीयम् ग्रन्थ अनुलोम-विलोम-काव्य वेंकटाध्वरि *अति दुर्लभ एक ग्रंथ ऐसा भी है हमारे सनातन धर्म मे* इसे तो सात आश्चर्यों में से पहला आश्चर्य माना जाना चाहिए यह है दक्षिण भारत का एक ग्रन्थ … Read more

भारत का स्वर्णिम अतीत : तेल्हाड़ा विश्वविद्यालय

भारत का स्वर्णिम अतीत : तेल्हाड़ा विश्वविद्यालय इन्क्रेडिबल इंडिया: सबसे प्राचीन विश्वविद्यालय तेल्हाड़ा विश्वविद्यालय जैसी सांस्कृतिक विरासत का महत्त्व एवं ऐतिहासिक योगदान के बारे में जानकारी असतो मा सद्गमय। तमसो मा ज्योतिर्गमय। मृत्योर्मामृतं गमय।। बृहदारण्यकोपनिषद् का उक्त वाक्य भारतीय ज्ञान और ज्ञान प्राप्ति की तीव्र उत्कंठा को दर्शाता है। विश्व के ज्ञात इतिहास को परखे … Read more

हिन्दी साहित्य काल विभाजन

हिन्दी साहित्य काल विभाजन एवं नामकरण साहित्येतिहास की आवश्यकता हिन्दी साहित्य काल विभाजन एवं कालखण्डों के नामकरण तथा हिंदी साहित्य में प्रचलित काल विभाजन और नामकरण की संपूर्ण जानकारी “प्रत्येक देश का साहित्य वहाँ की जनता की चित्तवृत्ति का संचित प्रतिबिंब होता है, तब यह निश्चित है कि जनता की चित्तवृत्ति के परिवर्तन के साथ-साथ … Read more

भारतीय शिक्षा अतीत और वर्तमान

भारतीय शिक्षा अतीत और वर्तमान “घर बालक की प्रथम पाठशाला और माता-पिता उसके प्रथम शिक्षक होते हैं।” उक्त कथन पूर्ण सत्य है बालक अपना पहला ज्ञान अपने परिवार और परिजनों से ही लेता है और उसके बाद ही वह समाज में प्रवेश करता है। समाज में प्रवेश करके वह समाज के बारे में प्रयोगात्मक ज्ञान … Read more

Computer History Timeline (Part-02)

Computer History Timeline – कम्प्यूटर इतिहास टाईम लाइन (Part – 02) Computer History Timeline | कम्प्यूटर का इतिहास हिंदी में| रोबोट|BM| जॉयस्टिक| प्रिंटेड सर्किट बोर्ड |एटानासॉफ-बेरी कंप्यूटर|MARK II | 1909 में ब्रायंट कंप्यूटर उत्पादों की स्थापना हुई। 1910 में हेनरी बैबेज, चार्ल्स बैबेज के सबसे छोटे बेटे एनालिटिकल इंजन के एक हिस्से को पूरा करते … Read more

Computer History Timeline (Part-01)

Computer History Timeline – कम्प्यूटर इतिहास टाईम लाइन (Part-01) Computer History Timeline | अबेकस | एल्गोरिदम | कैलकुलेटर | नेपियर बोन्स | स्लाइड रूल | पास्‍कलीन | पंच कार्ड | चार्ल्स बैबेज डिफरेंशियल इंजन परिचय 1822 में चार्ल्स बैबेज द्वारा बनाया गया पहला मैकेनिकल कंप्यूटर वास्तव में ऐसा नहीं था, जो आज का कंप्यूटर है। … Read more

कम्प्यूटर क्षेत्र में प्रथम

कम्प्यूटर क्षेत्र में प्रथम First in Computer Field in Word कम्प्यूटर क्षेत्र में प्रथम प्रिंटर, लैपटाॅप, पर्सनल कम्प्यूटर, प्रथम कम्पनी पहले कम्प्यूटर की अवधारणा आदि 1822 में चार्ल्स बैबेज द्वारा बनाया गया पहला मैकेनिकल कंप्यूटर वास्तव में ऐसा नहीं था, जो आज का कंप्यूटर है। जैसे जैसे समय बीतता गया तकनीक और अधिक विकसित होती … Read more

प्रथम महाकवि चंदबरदाई | Mahakavi Chandbardai

चंदबरदाई का जीवन परिचय प्रथम महाकवि चंदबरदाई | Mahakavi Chandbardai का जीवन परिचय, Chandbardai के अन्य नाम, पृथ्वीराज रासो के संस्करण, प्रमुख पंक्तियाँ, तथ्य, कथन आचार्य शुक्ल के अनुसार उनका जन्म लाहोर में हुआ था। कहा जाता है कि पृथ्वीराज और चंदवरदाई का जन्म एक दिन हुआ था। परंतु मिश्र बंधुओं के अनुसार पृथ्वीराज चौहान … Read more

Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial
error: Content is protected !!