प, फ, ब, भ, म

शब्द समूह के लिए एक शब्द (स्थानापन्न शब्द)

कम से कम शब्दों में अधिकाधिक अर्थ को प्रकट करने के लिए वाक्यांश या शब्द-समूह के लिए एक शब्द’ का विस्तृत ज्ञान होना आवश्यक है। ऐसे शब्दों के प्रयोग से वाक्य-रचना में संक्षिप्तता, सुंदरता तथा गंभीरता तो आती ही है, इसके अलावा पढ़ते, सुनते या लिखने में समय की भी बचत होती है। वाक्यांश या शब्द-समूह के लिए एक शब्द जो एक शब्द काम में लेते हैं उसे स्थानापन्न शब्द कहते हैं।

A word for a word set (substitute word in Hindi/One Word in Hindi/Phrases)

(Vakyansh ya shabd samooh ke liye ek shabd – Sthanapann Shabd)

वाक्यांश या शब्द-समूह के लिए एक शब्द – स्थानापन्न

Sthanapann Shabad
Sthanapann Shabad

घृत, दुग्ध, दधि, शहद व शक्कर से बनने वाला पदार्थ- पंचामृत अथवा पंचगव्य

जिसके पाँच मुख हों- पंचानन

पैरों की रक्षा करने वाला जूता- पदत्राण

जो परीक्षा लेता है- परीक्षक

जो दूसरों के सहारे जी रहा है- परजीवी

पत्तों से बनी हुई कुटिया- पर्णकुटि

आसपास का वातावरण- परिवेश

दूध देने वाली गाय- पयस्विनी

घूमने-फिरने वाला साधु- परिव्राजक

पक्षपात करने वाला- पक्षपाती

पदार्थ का सबसे छोटा कण- परमाणु

जितने की आवश्यकता हो उतना- पर्याप्त

महीने के दो पक्षों में से एक- पखवाड़ा

नाटक का पर्दा गिरना- पटाक्षेप या यवनिकापतन

अपनी गलती के लिए किया हुआ दुःख- पश्चाताप

केवल अपने पति में अनुराग रखने वाली स्त्री- पतिव्रता

पति को चुनने की इच्छा वाली कन्या- पतिम्वरा

उपाय अथवा मार्ग बताने वाला- पथ प्रदर्शक अथवा मार्गदर्शक

अपने मार्ग से च्युत या भटका हुआ- पथभ्रष्ट

जो दूसरे के अधिकार में हो- पराधीन

अपने पद से हटाया हुआ- पदच्युत

जो भोजन रोगी के लिए उचित है- पथ्य

घूमने-फिरने अथवा देश-देशान्तर भ्रमण करने वाला यात्री- पर्यटक

केवल दूध पर निर्भर रहने वाला- पयोहारी

दूसरों पर निर्भर रहने वाला- पराश्रित या पराश्रयी

परपुरुष से प्रेम करने वाली स्त्री- परकीया

पति द्वारा छोड़ दी गई पत्नी- परित्यका

दूसरे का मुँह ताकने वाला- परमुखापेक्षी

जो पहनने लायक हो- परिधेय

जो मापा जा सके- परिमेय

जो सदा बदलता रहे- परिवर्तनशील

जो आँखों के सामने न हो- परोक्ष अथवा अप्रत्यक्ष

दूसरे पर उपकार करने वाला- परोपकारी या परमार्थी

जो पूरी तरह से पक चुका हो या पारंगत हो चुका हो- परिपक्व

पर्दे के अंदर रहने वाली- पर्दानशीन

जिसका हृदय पत्थर के समान कठारे हो- पाषाण हृदय

किसी स्त्री को पत्नी के रूप में स्वीकार करने के साथ उसका हाथ पकड़ना- पाणिग्रहण

हाथ से लिखी गई पुस्तक- पाण्डुलिपि

किसी परिश्रम के बदले मिलने वाली राशि- पारिश्रमिक

जिसका स्वभाव पशुओं के समान हो- पाशविक

महीने के प्रत्येक पक्ष से संबंधित- पाक्षिक

किसी विषय का पूर्ण ज्ञाता- पारंगत

जिसमें से आर-पार देखा जा सकता हो- पारदर्शी

जो परलोक से संबंधित हो- पारलौकिक

मार्ग में खाने के लिए भोजन- पाथेय

जिसका संबंध पृथ्वी से हो- पार्थिव

पीने की इच्छा रखने वाला- पिपासु

एक बार कही हुई बात को दुहराते रहना- पिष्टपेषण

प्राचीन इतिहास का ज्ञाता- पुरातत्त्ववेत्ता

बार-बार कही गई बात- पुनरुक्ति

जिसका पुनः जन्म हुआ हो- पुनर्जन्म

पहले किया गया कथन- पूर्वोक्त

दोपहर से पहले का समय- पूर्वाह्न

पीने योग्य पदार्थ- पेय

जो शरीर से हष्ट-पुष्ट हो- पेशल

पिता एवं प्रपिताओं से संबंधित- पैतृक

जो सम्पत्ति पिता से प्राप्त हो- पैतृक सम्पत्ति

मनुष्य के पुरुषार्थ द्वारा रचा गया- पौरुषेय

पुरुष की शक्ति- पुरुषार्थ अथवा पौरुष

पाप करने के बाद स्वयं दण्ड पाना- प्रायश्चित

जहाँ प्रजा का राज हो- प्रजातंत्र

किसी विषय पर वचन करने वाला- प्रवक्ता

जिस पेड़ के पत्ते झड़ गये हों- प्रपर्ण

जो किसी संस्था का सदस्य हो- प्रतिनिधि

जो प्रतिफल के रूप में हो- प्रतिफलित

अत्यधिक शांत- प्रशांत

प्रजा को प्रेम करने वाला- प्रजावत्सल

उपकार के बदले किया गया उपकार- प्रत्युपकार

जो जाकर पुनः आ गया हो- प्रत्यागत

जो प्रकृति से संबंधित हो- प्राकृतिक

वह जो प्रार्थना करता हो- प्रार्थी

पूर्व दिशा- प्राची

जो सबके साथ प्रेम-पूर्वक बोलता हो- प्रियभाषी

जो पूछने योग्य हो- पृष्टव्य

प्रशंसा करने योग्य- प्रशंसनीय

वैज्ञानिक सिद्धांतों को व्यावहारिक रूप देने की विधि- प्रौद्योगिकी

दान के बदले दान देना- प्रतिदान

किसी प्रश्न का तत्काल उत्तर दे सकने वाली मति- प्रत्युत्पन्नमति

किसी वाद का विरोध करने वाला- प्रतिवादी

शरणागत की रक्षा करने वाला- प्रणतपाल

वह ध्वनि जो कहीं से टकराकर आए- प्रतिध्वनि

जो किसी मत को सर्वप्रथम चलाता है- प्रवर्तक

वह स्त्री जिसके हाल ही में शिशु उत्पन्न हुआ हो- प्रसूता

वह आकृति जो किसी शीशे, जल आदि में दिखाई दे- प्रतिबिम्ब

हास्य रस से परिपूर्ण नाटिका- प्रहसन

प्रमाण द्वारा सिद्ध करने योग्य- प्रमेय

किसी कार्य के बदले में की जाने वाली आशा- प्रत्याशा

विदेश मंे रहने वाला- प्रवासी

जिस स्त्री का पति दूर स्थान पर गया हो- प्रोषितपतिका

संध्या के बाद व रात्रि होने के पूर्व का समय- प्रदोष या पूर्वरात्र

ज्ञान नेत्र से देखने वाला अंधा व्यक्ति- प्रज्ञाचक्षु

सभा में विचारार्थ प्रस्तुत बात- प्रस्ताव

ज्ञात इतिहास के पूर्व समय का- प्रागैतिहासिक

जो किसी के प्राणों की रक्षा करे- प्राणरक्षक

स्थल का वह भाग जिसके तीन ओर पानी हो- प्रायद्वीप

जिसको देखकर अच्छा लगे- प्रियदर्शी


सर्पों का स्वामी- फणीन्द्र

वह जो फल देता है- फलदायी

माँगकर जीवन-यापन करने वाला- फकीर या भिक्षुक

फटे-पुराने कपड़े पहनने वाला- फटीचर

केवल फलों पर निर्वाह करने वाला- फलाहारी

फल की इच्छा रखने वाला- फलेच्छु

बेकार का खर्च- फिजूलखर्च

पेड़ की शाखा का अग्रभाग- फुनगी

घूम-फिरकर सामान बेचने वाला- फेरीवाला


रात का भोजन- ब्यालू अथवा रात्रिभोज

सूर्योदय से पहले दो घड़ी तक का समय- ब्रह्ममुहूर्त

जीवन का प्रथम आश्रम- ब्रह्मचर्याश्रम

जो सुन न सके- बधिर

जाति, समाज से निष्कासित किया गया हो- बहिष्कृत

जो संख्या में अधिक हों- बहुसंख्यक

जिसकी बहुत अधिक चर्चा हो- बहुचर्चित

जो एक से अधिक धंधा करता हो- बहुधंधी

अनेक लोगों का एक ही मत- बहुमत

बुरी किस्मत वाला- बदकिस्मत

बुरे मिजाज (आचरण) वाला- बदमिजाज

बहुत विषयों का जानकार- बहुज्ञ

जिसने सुनकर अनेक विषयों का ज्ञान प्राप्त किया हो- बहुश्रुत

समुद्र में लगने वाली आग- बड़वानल

जो अनेक रूप धारण करता हो- बहुरूपिया

बहुत से देवताओं के अस्तित्व में विश्वास करने वाला मत- बहुदेववाद

काफी अधिक कीमत का- बहुमूल्य

अनेक भाषाओं को जानने वाला- बहुभाषाविद्

बच्चों के लिए काम की वस्तु- बालोपयोगी

जो आजीवन ब्रह्मचारी रहा हो- बालब्रह्मचारी

बारह से सोलह वर्ष की अवस्था वाली स्त्री- बाला

जिस स्त्री के कोई संतान नहीं हुई हो- बाँझ अथवा बन्ध्या

खाने का इच्छुक- बुबुक्षु

जो बुद्धि कार्य से जीविका चलाता हो- बुद्धिजीवी

जिसके पास करने के लिए कोई काम न हो- बेरोजगार या बेकार

जिसके जोड़ बराबरी का कोई न हो- बेजोड़

जिसकी और कोई मिसाल न हो- बेमिसाल

जिसको किसी की चिंता न हो- बेफिक्र या निश्चिंत

बौद्ध मत को मानने वाला- बौद्ध

बहुत छोटे कद का आदमी- बौना


किसी भवनादि के खंडित होने के बाद बचे भाग- भग्नावशेष

जिसका हृदय टूट गया हो- भग्नहृदय

भावना में बह जाने वाला- भावुक

भय के कारण बेचैन- भयाकुल

भाग्य पर भरोसा रखने वाला- भाग्यवादी

जो भाग्य का धनी हो- भाग्यवान

यूरोप एवं भारत संबंधी- भारोपीय

जिसे भाषा विज्ञान का पूर्ण ज्ञान हो- भाषाविद्

दीवारों पर बने हुए चित्र- भित्तिचित्र

जो किसी मुसीबत का अनुभव कर चुका हो- भुक्तभोगी

खाना खाने की इच्छा- भूख या क्षुधा

जो पृथ्वी के भीतर का ज्ञान रखता हो- भूगर्भवेता

धरती पर चलने वाला जन्तु- भूचर

जो पहले था या हुआ अथवा वर्तमान के पहले- भूतपूर्व

धरती को धारण करने वाला पर्वत- भूधर

औषधियों का जानकार- भेषज

प्रातःकाल गाया जाने वाला राग- भैरवी

सूर्योदय के पहले का समय- भोर

भूमि का पुत्र- भोम (मंगल)

जो खूब खाता-पीता हो- भोजन भट्ट

भूगोल से संबंधित- भौगोलिक

जिसका मन भटका हुआ हो- भ्रांतचित्त


फूलों का रस- मकरंद

दोपहर का समय- मध्याह्न

सर्दी में होने वाली वर्षा- महावट या मावठ

हाथी को हाँकने वाला- महावत

मठों की व्यवस्था करने वाला- मठाधीश

महान व्रत का पालन करने वाला- महाव्रती

जिसमें अपार जलराशि हो- महोदधि

सुख एवं दुःख में एक समान रहने वाला- मनस्वी

जिसकी आँखें मगर जैसी हो- मकराक्ष

किसी मत का अनुसरण करने वाला- मतानुयायी

यज्ञों की रक्षा करने वाला- मखत्राता या यज्ञरक्षक

जो बहुत ऊँची अकांक्षा अथवा इच्छा रखता हो- महत्वाकांक्षी

जिसकी बुद्धि कमजोर है- मन्दबुद्धि या मतिमान्द्य

जिसकी आत्मा महान हो- महात्मा

किसी चीज के मर्म का ज्ञाता- मर्मज्ञ

रात के मध्य का समय- मध्यरात्र या मध्यरात्रि

दो पक्षों के बीच में पड़कर फैसला कराने वाला- मध्यस्थ

मन का असीम दुःख- मनस्ताप

चित्तवृत्ति को किसी एक विषय पर लगाना- मनोयोग

जो मृत्यु के निकट हो- मरणासन्न

जहाँ केवल रेत ही रेत हो- मरुस्थल अथवा मरुभूमि

जो मछली खाता हो- मत्स्याहारी

मयूर के समान नेत्रों वाली- मयूराक्षी

जिसका मूल्य बहुत अधिक हो- महार्घ या मंहगा

माँस आदि खाने वाला- माँसाहारी

माह में होने वाला- मासिक

माता की हत्या करने वाला- मातृहंता

कम खाने वाला- मिताहारी

कम खर्च करने वाला- मितव्ययी

जो कम बोलता हो- मितभाषी

जो असत्य बोलता हो- मिथ्यावादी

जिसकी आँखें मछली के समान हों- मीनाक्षी (पुरुष-मीनाक्ष)

थोड़ा खिला हुआ फूल- मुकुल

शुभ कार्य हेतु निकाला गया समय- मुहूर्त

दिल खोलकर कहना- मुक्तकंठ

खुले हाथ से दान करने वाला- मुक्तहस्त

मुद्रा का अधिक चलन या प्रसार- मुद्रास्फीति

मरणासन्न अवस्था या मरने को इच्छुक – मुमूर्षु

मरने की इच्छा- मुमूर्षा

मोक्ष प्राप्त करने की इच्छा- मुमुक्षा

मोक्ष की इच्छा रखने वाला- मुमुक्षु

मृत्यु की इच्छा होना- मुमुर्षा

चुपचाप देखने वाला- मूकदर्शक

हरिण के नेत्रों जैसी आँखों वाली- मृगनयनी

जो मीठी वाणी बोलता हो- मृदुभाषी या मिष्टभाषी

जिसने मृत्यु को जीत लिया हो- मृत्युंजय

मृत्यु के निकट होना- मृत्यून्मुख

कमल की डंडी- मृणाल

तीव्र बुद्धिवाला- मेधावी

खेत के चारो ओर मिट्टी से बनाया गया घेरा- मेंड

जो रचना किसी व्यक्ति की अपनी स्वयं की हो एवं नई हो- मौलिक

केवल मुँह से ली जाने वाली परीक्षा- मौखिक परीक्षा

निम्नलिखित अक्षरों से बनने वाले स्थानापन्न शब्दों को जानने के लिए इन्हें स्पर्श कीजिए-

अ से औ तक

क, क्ष, ख, ग, घ

च, छ, ज, ज्ञ, झ

ट, ठ, ड, ढ

त, त्र, थ, द, ध, न

प, फ, ब, भ, म

य, र, ल, व

श, श्र, ष, स, ह

अतः हमें आशा है कि आपको यह जानकारी बहुत अच्छी लगी होगी। इस प्रकार जी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप https://thehindipage.com पर Visit करते रहें।

Today: 2 Total Hits: 1082712
Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial
error: Content is protected !!