क, क्ष, ख, ग, घ

शब्द समूह के लिए एक शब्द (स्थानापन्न शब्द)

कम से कम शब्दों में अधिकाधिक अर्थ को प्रकट करने के लिए ‘वाक्यांश या शब्द-समूह के लिए एक शब्द’ का विस्तृत ज्ञान होना आवश्यक है। ऐसे शब्दों के प्रयोग से वाक्य-रचना में संक्षिप्तता, सुंदरता तथा गंभीरता तो आती ही है, इसके अलावा पढ़ते, सुनते या लिखने में समय की भी बचत होती है। वाक्यांश या शब्द-समूह के लिए एक शब्द जो एक शब्द काम में लेते हैं उसे स्थानापन्न शब्द कहते हैं।

वाक्यांश या शब्द-समूह के लिए एक शब्द – स्थानापन्न

Sthanapann Shabad
Sthanapann Shabad

उच्च कोटि का ज्ञान- कैवल्य

एक हजार युगों की समयावधि- कल्प

पुराना फटा हुआ वस्त्र- कन्था

जो बात लोगों से सुनी गई हो- किवदन्ती

जिसका रूप अच्छा न हो- कुरूप

जो कड़वा बोलता हो- कटुभाषी

जो काम से जी चुराये- कामचोर

षिवजी का निवास स्थान- कैलाश

पीटने वाली एक मोटी रस्सी- कोड़ा

हड्डियों का ढाँचा- कंकाल

दो व्यक्तियों के बीच परस्पर होने वाली बातचीत- कथोपकथन

बर्तन बेचने वाला- कसेरा

जिसे अपने मत या विश्वास का अधिक आग्रह हो- कट्टर

जिसकी कल्पना न की जा सके- कल्पनातीत

ऐसा अन्न जो खाने योग्य न हो- कदन्न

हाथी का बच्चा- कलभ

पालकी उठाने वाला- कहार

कर्म में तत्पर रहने वाला- कर्मठ

एक के बाद एक- क्रम

कान में कही जाने वाली बात- कानाबाती/कानाफूसी

सरकार का वह अंग जो कानून का पालन करता है- कार्यपालिका

शृंगारिक वासनाओं के प्रति आकर्षित- कामुक

जो दुःख या भय से पीड़ित हो- कातर

अपनी गलती स्वीकार करने वाला- कायल

दूसरे की हत्या करने वाला- कातिल

बाल्यावस्था और युवावस्था के बीच की अवस्था- किशोरावस्था

जो बात पूर्वकाल से लोगों में सुनकर प्रचलित हो- किँवदन्ती/जनश्रुति

अपने काम के बारे में कुछ निश्चय न करने वाला- किँकर्तव्यविमूढ़

वृक्ष लता आदि से ढका स्थान- कुञ्ज

जिस लड़के का विवाह न हुआ हो- कुमार

ऐसी लड़की जिसका विवाह न हुआ हो- कुमारी

बुरे कार्य करने वाला- कुकर्मी

बुरे मार्ग पर चलने वाला- कुमार्गी

जिसकी बुद्धि बहुत तेज हो- कुशाग्रबुद्धि

जो अच्छे कुल में उत्पन्न हुआ हो- कुलीन

वह व्यक्ति जिसका ज्ञान अपने ही स्थान तक सीमित हो- कूपमंडूक

किए गए उपकार को मानने वाला- कृतज्ञ

किए गए उपकार को न मानने वाला- कृतघ्न

जो धन को अत्यधिक कंजूसी से खर्च करता हो- कृपण

जिसने संकल्प कर रखा है- कृतसंकल्प

जो केन्द्र से हटकर दूर जाता हो- केन्द्रापसारी

जो केन्द्र की ओर उन्मुख हो- केन्द्राभिसारी/ केन्द्राभिमुख

सर्प के शरीर से निकली हुई खोली- केंचुली


क्ष

जो क्षमा किया जा सके- क्षम्य

जिसका कुछ ही समय में नाश हो जाए- क्षणभंगुर

जो क्षमा करने वाला हो- क्षमाशील

पूर्व में हुई हानि की भरपाई- क्षतिपूर्ति

जहाँ धरती और आकाश मिलते हुए दिखाई देते हैं- क्षितिज

जो भूख मिटाने के लिए बेचैन हो- क्षुधातुर

भूख से पीड़ित- क्षुधार्त


वह भूमि जहाँ फसल उगाई जाती है- खेत

वह भूमि जहाँ पर फसल काटकर रखी जाती है- खलिहान

जो टुकड़े-टुकड़े हो गया हो- खंडित

वह स्त्री, जिसका पति अन्य स्त्री के साथ रात को रहकर प्रातः लौटे- खंडिता

आकाशीय पिंडों का विवेचन करने वाला- खगोलशास्त्री

जो व्यक्ति अपने हाथ में तलवार लिए रहता है- खड्गहस्त

नायक का प्रतिद्वन्द्वी- खलनायक


जहाँ से गंगा नदी का उद्गम होता है- गंगोत्री

अर्जुन के धनुष का नाम- गाण्डीव

गायों के खुरों से उड़ी धूल- गोधूलि या गोरज

गाय के खुर से बनने वाला छोटा गड्ढा- गोष्पद

जब गायें जंगल से लौटती हैं और उनके चलने की धूल आसमान में उड़ती है (दिन और रात्रि के बीच का समय)- गोधूलि बेला

गायों के रहने का स्थान- गौशाला

जो आकाश को छू रहा हो- गगनस्पर्शी

पहले से चली आ रही परम्परा का अनुपालन करने वाला- गतानुगतिक

ग्रहण करने योग्य- ग्राह्य

गुप्त समाचार देने वाला- गुप्तचर

जिसे गुप्त रखा जाये- गोपनीय

जो गाँव में रहता हो- ग्रामीण

जो गणित का ज्ञाता हो- गणितज्ञ

गीत गाने वाला/वाली- गायक/गायिका

गीत रचने वाला- गीतकार

शरीर का व्यापार करने वाली स्त्री- गणिका

हर पदार्थ को अपनी ओर आकृष्ट करने वाली शक्ति- गुरुत्वाकर्षण

विवाहोपरान्त वर द्वारा वधु को ले जाने की रस्म- गौना

जो बात गूढ़ (रहस्यपूर्ण) हो- गूढ़ोक्ति

जीवन का द्वितीय आश्रम- गृहस्थाश्रम

जिसका ज्ञान इन्द्रियों द्वारा हो सके- गोचर

गेरूए वस्त्र धारण करने वाली- गैरिदुकूलनी

गोरे अंग वाली- गौरांगिनी


मिट्टी का छोटा घर- घरौन्दा

घास खोदकर जीवन-निर्वाह करने वाला- घसियारा

शरीर की हानि करने वाला- घातक

जो घृणा का पात्र हो- घृणित/घृणास्पद

घृणा किये जाने योग्य- घृण्य

जो घूमता रहता हो- घुम्मकड़

जो घरों में फूट डालता हो- घरफोड़ा

निम्नलिखित अक्षरों से बनने वाले स्थानापन्न शब्दों को जानने के लिए इन्हें स्पर्श कीजिए-

अ से औ तक

क, क्ष, ख, ग, घ

च, छ, ज, ज्ञ, झ

ट, ठ, ड, ढ

त, त्र, थ, द, ध, न

प, फ, ब, भ, म

य, र, ल, व

श, श्र, ष, स, ह

अतः हमें आशा है कि आपको यह जानकारी बहुत अच्छी लगी होगी। इस प्रकार जी जानकारी प्राप्त करने के लिए आप https://thehindipage.com पर Visit करते रहें।

Today: 2 Total Hits: 1082836
Social Share Buttons and Icons powered by Ultimatelysocial
error: Content is protected !!